February 29, 2024

UP One India

Leading Hindi News Website

Good News- काम की खबर : ट्रेन में सफर के दौरान मिनटों में करें Whatsapp से खाना ऑर्डर, जानें कैसे काम करती है ये सुविधा!

Good News- काम की खबर : ट्रेन में सफर के दौरान मिनटों में करें Whatsapp से खाना ऑर्डर, जानें कैसे काम करती है ये सुविधा!

Indian Rail, Good News, Train Passengers, Whatsapp, IRCTC, Online Food Ordering,

Good News: नई दिल्ली। भारतीय रेलवे ने ट्रेन में सफर के दौरान अब व्हाट्सऐप Whatsapp से ऑनलाइन खाना ऑर्डर Online Food Ordering करने की नई सेवा शुरू की है। भारतीय रेलवे के पीएसयू, आईआरसीटीसी (भारतीय रेलवे खानपान और पर्यटन निगम) ने रेल यात्रियों के लिए ई-कैटरिंग सेवाओं के माध्यम से भोजन ऑर्डर करने के लिए व्हाट्सऐप संचार शुरू किया। व्हाट्सऐप नंबर 91-8750001323 पर मैसेज या फोन कर यात्री ये सुविधा हासिल कर सकेंगे।

Good News: Order food through Whatsapp in minutes while traveling in train, know how this facility works!

यात्रियों के लिए ई-कैटरिंग सेवाओं के सभी प्रश्नों को हैंडल करने के लिए रेलवे ने पावर चैटबॉट शुरू किया है। ताकि यात्रियों की पसंद के अनुसार उन्हें समय पर भोजन परोसा जा सके। हालांकि ये सुविधा अभी कुछ चुनिंदा ट्रेनों में ही यात्रियों को दी जाएगी। ग्राहकों के फीडबैक और सुझावों के आधार पर इसे अन्य ट्रेनों में भी लागू किया जाएगा। आईआरसीटीसी ने एक विशेष रूप से विकसित वेबसाइट के साथ-साथ अपने ई-कैटरिंग फूड ऐप के माध्यम से ई-कैटरिंग सेवाएं शुरू की हैं।

जानकारी के अनुसार शुरूआत में, व्हाट्सऐप संचार के माध्यम से ई-खानपान सेवाओं के कार्यान्वयन के दो चरणों की योजना बनाई गई थी। पहले चरण में, बिजनेस व्हाट्सऐप नंबर लिंक पर क्लिक कर ई-केटरिंग सेवाओं को चुनने के लिए ई-टिकट बुक करने वाले ग्राहक को एक संदेश भेजेगा।
इस विकल्प के साथ, ग्राहक आईआरसीटीसी की ई-कैटरिंग वेबसाइट के माध्यम से सीधे स्टेशनों पर उपलब्ध अपनी पसंद के रेस्तरां से ऐप डाउनलोड करने की आवश्यकता के बिना अपनी पसंद का भोजन बुक कर सकेंगे।

वहीं दूसरे चरण में, व्हाट्सऐप नंबर ग्राहक के लिए एक इंटरैक्टिव दो तरफा संचार मंच बनने में सक्षम होगा, जिसमें एआई (भारतीय रेलवे) पावर चैटबॉट यात्रियों के लिए ई-कैटरिंग सेवाओं के सवाल-जवाब और उनके लिए भोजन भी बुक करेगा। फिलहाल, आईआरसीटीसी की ई-कैटरिंग सेवाओं के माध्यम से एक दिन में लगभग 50 हजार यात्रियों को भोजन परोसे जा रहे हैं, जो इसकी वेबसाइट के साथ-साथ ऐप के माध्यम से सक्षम हैं।

error: Content is protected !!