April 21, 2024

UP One India

Leading Hindi News Website

व्हाइट बॉल क्रिकेट में पाकिस्तान का जलवा, भारतीय धुरंधर हुए धराशायी

व्हाइट बॉल क्रिकेट में पाकिस्तान का जलवा, भारतीय धुरंधर हुए धराशायी

नई दिल्ली। एक समय ऐसा था जब पाकिस्तान की टीम के पास अच्छे बल्लेबाजों की फौज थी। उनको गेंदबाजों से समर्थन मिलता था, लेकिन पिछले करीब एक दशक में टीम कई उतार-चढ़ावों से गुजरी। हालांकि, अब फिर से सीमित ओवरों की क्रिकेट में पाकिस्तान की टीम का वर्चस्व देखने को मिल रहा है। पाकिस्तान की टीम भारत की टीम से वनडे रैंकिंग में आगे है। यहां तक कि पाकिस्तान टीम के दो-दो बल्लेबाजों ने वनडे और टी20 रैंकिंग में शीर्ष क्रम पर कब्जा जमाया हुआ है, जबकि विराट कोहली और रोहित शर्मा जैसे भारतीय दिग्गजों की रैंकिंग गिरती जा रही है। ऐसे में जान लीजिए कि आखिरी वो कौन से कारण हैं, जिनकी वजह से पाकिस्तान की टीम लगातार व्हाइट बॉल क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन कर रही है।

  1. घरेलू परिस्थितियों में खेलना
    पाकिस्तान की टीम पिछले कुछ समय से घर पर ज्यादा मुकाबले खेल रही है, जहां टीम को अपार समर्थन मिल रहा है। इसके अलावा घरेलू परिस्थितियों का फायदा भी टीम को मिल रहा है। पाकिस्तान ने अपनी सरजमीं पर श्रीलंका, बांग्लादेश, वेस्टइंडीज और अफगानिस्तान जैसी टीम को धूल चटाई है। हालांकि, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टीम वनडे सीरीज ही जीत पाई थी। ये बड़ा कारण है, जिसके कारण पाकिस्तानी बल्लेबाज सीमित ओवरों की क्रिकेट में रैंकिंग में आगे नजर आ रहे हैं।
  2. PCB नेतृत्व में बदलाव
    पाकिस्तान क्रिकेट में सुधार का एक बड़ा कारण ये भी रहा है कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड यानी पीसीबी में नेतृत्व बदला है। पूर्व क्रिकेटर रमीज राजा का सत्ता संभालने के बाद से विवाद कम देखने को मिले हैं। हालांकि, एक दो विवाद सामने आए हैं, लेकिन उन्हें नजरअंदाज कर दिया जाए तो रमीज ने टीम को आजादी देने का काम किया है। इसके अलावा कोचिंग के स्तर पर भी काम अच्छा किया जा रहा है।
  3. फिटनेस का स्तर बढ़ा
    पाकिस्तान टीम के खिलाडिय़ों का फिटनेस स्तर बढ़ गया है। इसके पीछे का कारण पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड का सख्त रवैया भी है, जबकि खिलाड़ी भी खुद को फिट रखने पर ध्यान दे रहे हैं। बोर्ड समय-समय पर फिटनेस कैंप लगाकर फिटनेस का टेस्ट भी लेने का काम करता है। इसके पीछे का कारण ये भी है कि पाकिस्तान के खिलाडिय़ों ने इंटरनेशनल स्तर पर विराट कोहली जैसे फिट खिलाडिय़ों को देखा है, जो लगातार इसलिए बिना चोटिल हुए खेल रहे हैं, क्योंकि उनका फिटनेस रुटीन अच्छा है।
  4. पाकिस्तान में क्रिकेट बैन
    2009 में श्रीलंका की टीम बस पर लाहौर में आतंकी हमला हुआ था। इसके बाद लगभग एक दशक तक पाकिस्तान में क्रिकेट बैन थी। इसके साथ-साथ पाकिस्तान में क्रिकेट की बहाली हुई तो फिर न्यूजीलैंड ने पाकिस्तान में पहुंचने के बाद भी दौरा कैंसिल कर दिया था और इसके बाद इंग्लैंड की टीम भी पाकिस्तान दौरे पर नहीं गई। हालांकि, बाकी टीमें पाकिस्तान पहुंचीं और पाकिस्तानी खिलाडिय़ों ने दिखा दिया कि उनके यहां अच्छी और प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेली जाती है।
    वहीं, अगर आईसीसी की वनडे रैंकिंग की बात करें तो यहां बल्लेबाजी में बाबर आजम पहले और इमाम उल हक दूसरे पायदान पर हैं, जबकि विराट कोहली तीसरे और रोहित शर्मा चौथे पायदान पर हैं। टी20 रैंकिंग में बाबर आजम पहले और मोहम्मद रिजवान दूसरे नंबर पर हैं, जबकि रोहित शर्मा और विराट कोहली का नाम टॉप 10 से बाहर हो चुका है। हालांकि, टी20 टीम रैंकिंग में भारतीय टीम नंबर वन है।

You may have missed

error: Content is protected !!