April 25, 2024

UP One India

Leading Hindi News Website

भुवनेश्वर कुमार ने T20 वर्ल्ड कप के लिए ठोकी अपनी दावेदारी, एक से ज्यादा बार मैन ऑफ द सीरीज जीतने वाले पहले भारतीय पेसर बने

भुवनेश्वर कुमार ने T20 वर्ल्ड कप के लिए ठोकी अपनी दावेदारी, एक से ज्यादा बार मैन ऑफ द सीरीज जीतने वाले पहले भारतीय पेसर बने

नई दिल्ली। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच बेंगलुरु के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में पांचवां और निर्णायक टी20 इंटरनेशनल मुकाबला बारिश के कारण सिर्फ 3.3 ओवर के कारण रद्द हो गया जिससे दोनों टीम ने 2-2 से सीरीज शेयर की। दक्षिण अफ्रीका ने शुरुआती दो मैच जीते थे जिसके बाद भारत ने वापसी करते हुए अगले दो मुकाबलों में जीत दर्ज करते हुए सीरीज में बराबरी हासिल कर ली थी। पांचवां और निर्णायक टी20 रद्द होने के बाद भारतीय तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार को पूरी सीरीज में उनकी बेहतरीन गेंदबाजी के लिए मैन ऑफ द सीरीज खिताब दिया गया। भुवनेश्वर ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पांच मैचों की टी20 सीरीज में छह विकेट चटकाए। उन्होंने सीरीज के चार मैचों में 14.16 की औसत और 10.4 की स्ट्राइक रेट से ये विकेट निकाले। उनके इस प्रदर्शन के लिए भुवी को प्लेयर ऑफ द सीरीज के लिए चुना गया। भुवी से ज्यादा विकेट हर्षल पटेल ने लिए। लेकिन इसके लिए उन्होंने 88 रन दिए भुवनेश्वर ने 85 रन खर्च किए। हर्षल ने पांच मैचों की सीरीज में सर्वाधिक 7 विकेट अपने नाम किए। इनमें 25 रन देकर चार विकेट उनका बेस्ट रहा। वहीं, 13 रन देकर चार विकेट भुवनेश्वर का बेस्ट बॉलिंग प्रदर्शन रहा।

हर्षल और भुवी के अलावा युजवेंद्र चहल ने भी सीरीज में छह विकेट अपने नाम किए। वहीं, दक्षिण अफ्रीका के लिए डवेन प्रिटोरियस ने इस सीरीज में अपनी टीम के लिए सर्वाधिक 5 विकेट निकाले। भुवी ने अपने इस प्रदर्शन चलते इस साल अक्टूबर नवंबर में ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 वर्ल्ड कप 2022 के लिए भारतीय टीम के लिए अपनी दावेदारी ठोक दी है। भुवी का अनुभव ऑस्ट्रेलिया में भारतीय टीम के काफी काम आ सकता है। भुवी ने पावरप्ले के साथ साथ अंतिम ओवरों में भी कमाल की गेंदबाजी की। वह इस टीम में सबसे अनुभवी गेंदबाज थे।

भुवनेश्व कुमार ने मैन ऑफ द सीरीज का खिताब जीतने के बाद कहा, प्लेयर ऑफ द सीरीज का ख़िताब पाना एक गर्व का विषय है। मैं अभी बिल्कुल फिट हूं। टीम में मेरा रोल अब भी वही है जो पहले थे। मैं पावरप्ले में गेंदबाजी करता हूं। इसके बाद मैं अंतिम ओवरों में भी गेंदबाजी करता हूं। इसके अलावा एक सीनियर खिलाड़ी के तौर पर सभी गेंदबाजों से बात भी करनी होती है। टीम ने मुझे अपनी तरह से गेंदबाज़ी करने की पूरी आजादी दी थी।

एक से ज्यादा बार मैन ऑफ द सीरीज जीतने वाले पहले भारतीय पेसर बने
भुवनेश्वर ने इससे पहले 2018 में भी दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैन ऑफ द सीरीज का खिताब जीता था। तब उन्होंने घर से बाहर वह खिताब अपने नाम किया था। भुवनेश्वर अब टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में एक से ज्यादा बार मैन ऑफ द सीरीज का खिताब जीतने वाले पहले भारतीय तेज गेंदबाज बन गए हैं। उन्होंने अपने करियर में अब तक कुल दूसरी बार यह पुरस्कार अपने नाम किया है।

भुवनेश्वर टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में भारत के लिए सर्वाधिक मैन ऑफ द सीरीज जीतने वाले संयुक्त रूप से दूसरे खिलाड़ी बने, अनुभवी तेज गेंदबाज भुवनेश्वर ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैन ऑफ द सीरीज जीतने साथ ही एक और बड़ी उपलब्धि अपने नाम कर ली है। वह अब टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में भारत के लिए सर्वाधिक मैन ऑफ द सीरीज जीतने वाले संयुक्त रूप से दूसरे खिलाड़ी बन गए हैं। टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में भारत के लिए भुवी के अलावा रोहित शर्मा और युजवेंद्र चहल ने भी अब तक दो-दो बार मैन ऑफ द सीरीज अपने नाम किया है। विराट कोहली इस मामले में टॉप पर बने हुए हैं। कोहली ने टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में भारत के लिए अब तक सर्वाधिक 7 बार मैन ऑफ द सीरीज का खिताब जीता है।

error: Content is protected !!