November 26, 2022

UP One India

Leading Hindi News Website

सिसवा नगर पालिका चुनाव: सबसे सुन्दर मतदान केन्द्र बना RPIC स्कूल, रंगोली के साथ फूलों की सजावट और लहरा रहा था तिरंगा

          

सिसवा नगर पालिका चुनाव: सबसे सुन्दर मतदान केन्द्र बना RPIC स्कूल, रंगोली के साथ फूलों की सजावट और लहरा रहा था तिरंगा

सिसवा बाजार-महराजगंज। सिसवा नगर पालिका के अध्यक्ष व सभासद पद के लिए आज हो रहे मतदान में अगर कहा जाए कि सबसे सुन्दर मतदान केन्द्र कौन था तो बीजापार स्थित आरपीआईसी स्कूल का नाम सामने आयेगा, क्यो कि इस स्कूल मे बने मतदान केन्द्र को फूलों से सजाने के साथ ही रंगोली भी बनायी गयी थी तो सेल्फी प्वाईंट के साथ सबसे सुन्दर लग रहा था भारतीय ध्वज तिरंगा।
        सिसवा नगर पालिका के नई कमेटी के लिए आज मतदान हो रहा है, पूरे क्षेत्र में 29 मतदान केन्द्रों पर 63 बूथ बनाये गये है, वैसे ईस्टेट चौराहा स्थित प्रा0पाठशाला मतदान केन्द्र को भी सजाया गया था लेकिन बीजापार आरपीआईसी स्कूल जो पहली बार मतदान केन्द्र बना है, गेट पर फूलों की सजावट थी, फिर अन्दर दूसरे गेट को भी फूलों से सजाया गया था तो अन्दर मतदाताओं की जहां लाईन लगती है वहां दर्जनों खम्भों पर भारतीय ध्वज तिरंगा फहर रहा था, दूसरी तरफ रंगोली बनी हुयी थी तो एक तरफ मतदाताओं के लिए सेल्फी प्वाईंट बना हुआ था, मतदान केन्द्र पर पहुंचते ही ामतदाता सजावट देख दंग रह जाते थे।
 

सिसवा नगर पालिका चुनाव: सबसे सुन्दर मतदान केन्द्र बना RPIC स्कूल, रंगोली के साथ फूलों की सजावट और लहरा रहा था तिरंगा

 सुरक्षा चाक चौबंद थी
       मतदान केन्द्र पर पुलिस की सुरक्षा चाक चौबंद थी, गेट से लेकर अंदर तक पुलिस के जवान तैनात थे।

सिसवा नगर पालिका चुनाव: सबसे सुन्दर मतदान केन्द्र बना RPIC स्कूल, रंगोली के साथ फूलों की सजावट और लहरा रहा था तिरंगा


 

मतदान केन्द्र व बूथ तलाश करते नजर आये मतदाता
      आज सुबह से हो रहे मतदान में जो सबसे बड़ी गड़बड़ी नजर आयी वह थी वोटर लिस्ट में नाम गायब व इधर से उधर होने की, अत्याधिक मतदान केन्द्रों पर मतदाताओं की शिकायत रही कि एक ही परिवार के सदस्यों का अलग-अलग बूथों मतदान करना पड़ा, जब पूरा परिवार अपने बूथ पर घंटों लाईन में खड़ा रहने के बाद मतदान के लिए पहुंचता तो पता चलता कुछ सदस्यों का नाम दूसरे बूथ पर है, फिर वहां लाईन लगानी पड़ रही थी, तो कई मतदाता मतदान केन्द्र पर पहुंचे तो पता चला उनका नाम ही गायब है, जब की उनका कहना था कि अभी 10 दिन पूर्व विधानसभा के लिए मतदान किये है, ऐसे में नाम न होने से वापस जाना पड़ रहा था।

error: Content is protected !!