November 26, 2022

UP One India

Leading Hindi News Website

Krishna Janmashtami 2022 : 28 साल से कुशीनगर पुलिस नही मनाती श्रीकृष्ण जन्माष्टमी, जनिए आखिर क्या है कारण

Krishna Janmashtami 2022 : 28 साल से कुशीनगर पुलिस नही मनाती श्रीकृष्ण जन्माष्टमी, जनिए आखिर क्या है कारण

Krishna Janmashtami 2022: For 28 years, Kushinagar police do not celebrate Shri Krishna Janmashtami, know what is the reason

krishna janmashtami 2022, janmashtami kab hai, janmashtami, krishna janmashtami, krishna, krishna images, जन्माष्टमी कब है, krishnashtami 2022 date, janmashtami 2022 date and time, krishna jayanthi 2022, krishna janmashtami kab hai, krishna photo

कुशीनगर। जहां देश दुनिया में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की धूम रहती है वहीं कुशीनगर जिले की पुलिस पिछले 28 वर्ष से श्रीकृष्ण जन्माष्टमी नहीं मनाती, 1994 में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की रात यहां के जंगल पार्टी व पुलिस के बीच फायरिंग शुरू हो गई और नदी में डोंगी नाव पलटने से 6 पुलिसकर्मी डूबकर मर गये थे, उसी समय से यहां की पुलिस ने श्रीकृष्ण जन्माष्टमी से दूरी बना ली।

बताते चले कुशीनगर व बिहार को बांटनें वाली गंण्डक के आस-पास जिसे दियारा कहा जाता है इस इलाके में जंगल पार्टी के बदमाशों का दबदबा था और क्षेत्र के लोग बदमाशों के खौफ में जिंदगी गुजारते थे, यहां कई बदमाशों का दबदबा चलता था, जंगल पार्टी में उन दिनों अलाउद्दीन और लोहा के साथ ही बेंचू नाम के बदमाश का बड़ा आतंक था, इनका रंगदारी वसूली, डकैती, लूट, बच्चों का अपहरण कर फिरौती वसूली, चिट्ठी भेज कर वसूली करना इस गैंग के लिए चुटकी बजाने भर का काम था।

1994 में बिहार के पश्चिमी चम्परण व उत्तर प्रदेश के कुशीनगर सहित आसपास के इलाके में रामयाशी गैंग का बोलबाला था, जिसका सरगना बेचू कुशवाहा, पुलिस रामयाशी गैंग के बदमाशों की हरकतों से पेरशान हो उठी थी ऐसे में तत्कालीन पुलिस कप्तान कमल सक्सेना ने रामयाशी गैंग के सफाये के लिए तरयासुजान थाने सहित तीन थानों की पुलिस की तीन अलग – अलग टीमें बनाई गई और श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की रात पुलिस की टीमें कुबेर स्थान थानाक्षेत्र में गंण्डक नदी में डोंगी नाव पर सवार होकर निकली।

krishna dress, krishnashtami 2022, janmashtami drawing, radha krishna images, जन्माष्टमी, janmashtami decoration, happy janmashtami, lord krishna, krishna drawing, janmashtami kitni tarikh ki hai, krishna jayanthi, कृष्ण जन्माष्टमी कब है, 2022 mein janmashtami kab hai

इधर पुलिस नदी में डोंगी नाव पर सवार थी तो नदी के दूसरी तरफ रामयाशी गैंग, फिर क्या था, दोनों तरफ से फायरिंग शुरू हो गई, इस दौरान डोंगी नदी में पलट गई और अंधेरी रात में गंण्डक की लहरों में पुलिस की एक टीम में 6 जवानों की जिंदगियों समा गई, जिसमें कुबेरस्थान थाना के पचरुखिया में एसजो अनिल कुमार पांडेय, एसआई राजेंद्र यादव, कांस्टेबल नागेंद्र पांडेय, कांस्टेबल खेदन सिंह, कांस्टेबल विश्वनाथ यादव व परशुराम गुप्ता शहीद हो गये थे।

उस समय तो बेचू बच गया लेकिन कुछ दिनों बाद पुलिस ने बेचू को मार गिराया, श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की रात अपने साथियों के मारे जाने के गम में 28 वर्षाे से कुशीनगर जिले की पुलिस जन्माष्टमी में किसी तरह का कोई आयोजन नहीं करती है और न ही इसे मनाती है।

error: Content is protected !!