February 8, 2023

UP One India

Leading Hindi News Website

हेड कांस्टेबल ने AK-47 से CISF जवानों पर बरसाई गोलियां, एक की मौत और दूसरा घायल

हेड कांस्टेबल ने AK-47 से CISF जवानों पर बरसाई गोलियां, एक की मौत और दूसरा घायल

कोलकाता । कोलकाता में स्थित भारतीय संग्रहालय में तैनात सीआईएसएफ (केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल) के जवान ने अपने दो सहकर्मियों को गोली मार दी। इस घटना में जवान के सीनियर सहकर्मी की मौत हो गई, जबकि एक अन्य अधिकारी घायल हो गया। अधिकारियों ने बताया कि गोली चलाने वाले हेड कांस्टेबल ए. के. मिश्रा ने एके47 राइफल से सहायक उपनिरीक्षक रंजीत सारंगी की हत्या कर दी, जबकि सहायक कमांडेंट रैंक के अधिकारी सुवीर घोष हल्के जख्मी हुए हैं।

आरोपी हेड कांस्टेबल का दावा है कि यूनिट में उसे परेशान किया जा रहा था। उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। अर्द्धसैनिक बल के एक अधिकारी ने बताया कि सीआईएसएफ के महानिरीक्षक (दक्षिण पूर्व) सुधीर कुमार के मौके पर पहुंचने पर आरोपी मिश्रा ने आत्मसमर्पण कर दिया। कोलकाता पुलिस ने भी बताया कि सीआईएसएफ के अधिकारियों ने मिश्रा को हथियार डालने और आत्मसमर्पण करने के लिए मनाया।

पूरी मैगजीन लोगों पर कर दी खाली
आरोप है कि मिश्रा ने यूनिट के हथियारखाने से जबरदस्ती हथियार लिया और पूरी मैगजीन लोगों पर खाली कर दी। गोलीबारी में घायल हुए दो लोगों को सरकारी एसएसकेएम अस्पताल ले जाया गया, जहां सारंगी की मौत हो गई। सीआईएसएफ ने घटना के कारणों का पता लगाने के लिए कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी का आदेश दिया है।

आरोपी हेड कांस्टेबल गिरफ्तार
कोलकाता के पुलिस आयुक्त विनीत गोयल ने बताया, घटना शाम करीब साढ़े छह बजे की है। सीआईएसएफ के एक जवान की मौत हो गई है जबकि दूसरा घायल है। हमने आरोपी हेड कांस्टेबल को गिरफ्तार कर लिया है। संग्रहालय में गोलीबारी की सूचना पाकर पुलिस उपायुक्त एक लड़ाकू दस्ते और त्वरित प्रतिक्रिया दल के साथ मौके पर पहुंचे। हम सीआईएसएफ के संपर्क में हैं। हमने आरोपी को हथियार डालने के लिए सफलतापूर्वक मना लिया है। हम मामले की जांच कर रहे हैं।

संग्रहालय की सुरक्षा जिम्मेदारी संभाल रहा CISF
भारत के सबसे पुराने और बड़े संग्रहालय परिसर में बनी बैरकों में बीती शाम यह घटना हुई। केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) दिसंबर, 2019 से संग्रहालय की सुरक्षा की जिम्मेदारी संभाल रहा है। कोलकाता के मध्य स्थित संग्रहालय केन्द्रीय संस्कृति मंत्रालय के तहत एक स्वायत्त संगठन है।

error: Content is protected !!