January 29, 2023

UP One India

Leading Hindi News Website

थायराइड के मोटापे से हैं परेशान? तो फॉलो करें यह डाइट

थायराइड के मोटापे से हैं परेशान? तो फॉलो करें यह डाइट

हाइपोथायरायडिज्म एक ऐसी स्थिति है जब शरीर पर्याप्त थायराइड हार्मोन का उत्पादन नहीं करता है। थायराइड हार्मोन बहुत महत्वपूर्ण हैं। यह विकास, कोशिका की मरम्मत और चयापचय को नियंत्रित करने में मदद करते हैं – वह प्रक्रिया जिसके द्वारा आपका शरीर आपके द्वारा खाए जाने वाले भोजन को ऊर्जा में परिवर्तित करता है। थाइराइड में क्यों बढऩे लगता है वजन, इसकी वजह है आपका मेटाबॉलिज्म, यह आपके शरीर के तापमान को प्रभावित करता है और आप किस दर से कैलोरी बर्न करते हैं, इसलिए हाइपोथायरायडिज्म से पीडि़त लोगों को अक्सर ठंड और थकान महसूस होती है और उनका वजन आसानी से बढ़ सकता है। इसलिए जो लोग अपना वजन कम करना चाहते हैं, उनके लिए वजन घटाने की यात्रा को बढ़ावा देने के लिए अपनी थायराइड की समस्या को ठीक करना बहुत जरूरी है।

आपको हाइपोथायरायडिज्म के साथ अपना वजन बनाए रखना मुश्किल लगता है, तो मध्यम या उच्च तीव्रता वाले कार्डियो करने का प्रयास करें। इसमें तेज गति से चलना, दौडऩा, लंबी पैदल यात्रा और रोइंग जैसे व्यायाम शामिल हैं। इसके अलावा खाने में कुछ विटामिन्स और मिनरल्स की पर्याप्त मात्रा को सुनिश्चित करने से भी आपको वजन कम करने में मदद मिलेगी।

फाइबर कम करेगा थाइराइड का मोटापा
फाइबर युक्त सामग्री पाचन में सुधार करने में मदद करती है और खराब विषाक्त पदार्थों को भी खत्म करती है। इसके अलावा यह कैलोरी की मात्रा पर नियंत्रण रखने में मदद करती है और अंत में वजन घटाने में मदद भी करती है। ऐसे में दैनिक आहार में फाइबर युक्त फलों, सब्जियों और दालों को शामिल करने का सुझाव दिया जाता है।

आयोडीन युक्त पदार्थों का करें सेवन
विशेषज्ञों के अनुसार, आयोडीन एक आवश्यक खनिज के रूप में शरीर में थायराइड फंक्शन को प्रोत्साहित करने में मदद करता है। इस प्रकार, यदि आपको हाइपोथायरायडिज्म है, तो मछली, नमक, डेयरी और अंडे के माध्यम से अपने आयोडीन का सेवन बढ़ाने से शरीर में टीएसएच उत्पादन में वृद्धि होगी। और थायराइड के दुष्प्रभाव भी कम हो सकते हैं।

ग्लूटेन फ्री फूड है फायदेमंद
ग्लूटेन फ्री उत्पादों के नियमित सेवन से हाइपोथायरायडिज्म को प्रबंधित करने और प्रभावी वजन घटाने में मदद मिल सकती है। यह पाया गया है कि ग्लूटेन संवेदनशीलता और हाशिमोटो के थायरॉयडिटिस के बीच एक संबंध है, जिसके परिणामस्वरूप थायराइड निष्क्रिय हो जाता है।

सेलेनियम से भरपूर आहार लें
सेलेनियम युक्त खाद्य पदार्थ जैसे ब्राजील नट्स, सार्डिन, अंडे और फलियां अपने आहार में शामिल करना शुरू करें, क्योंकि वे बहुत सारे टीएसएच हार्मोन उत्पन्न करने में मदद करते हैं। भोजन में सेलेनियम मुक्त कणों को खत्म करने और शरीर के इम्यून फंक्शन को मजबूत करने में मदद करता है।

बॉडी को रखें हाइड्रेड
वजन घटाने के लिए हाइड्रेशन महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह शरीर से पाचन और विष उन्मूलन में सुधार करता है। यह आपकी भूख को भी कम करता है। जो लंबे समय में वजन घटाने में मदद करता है।

You may have missed

error: Content is protected !!