पुलिस थाना परिसर में लगी आग, 7 कारें और दर्जनों दोपहिया वाहन जलकर राख

पिता ने लगायी दहेज उत्पीड़न मामले की निष्पक्ष जांच की गुहार

हरिद्वार। ज्वावालापुर निवासी अनवर अब्बासी ने दहेज उत्पीडऩ का आरोप लगाते हुए उत्तर प्रदेश व उत्तराखण्ड सरकार से पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कर न्याय दिलाने की मांग की है। प्रैस क्लब में पत्रकारवार्ता के दौरान अनवर अब्बासी ने कहा कि वर्ष 2020 में उनके बेटे का निकाह यूपी के सहारनुपर में हुआ था। शादी के तीन माह बाद बहु ने परिवार पर दहेज उत्पीडऩ के झूठे आरोप लगाने शुरू कर दिए और मायके वालों के बहकावे में आकर मुकद्मा दर्ज करा दिया।

अनवर अब्बासी ने कहा कि मुकद्मा दर्ज होने के बाद से ही वह और उनका परिवार मानसिक तनाव झेल रहे हैं। इस संबंध में उन्होंने प्रधानमंत्री, यूपी के मुख्यमंत्री, सहारनपुर के जिला अधिकारी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सहित कई वरिष्ठ अधिकारियों को प्रार्थना पत्र भी भेजे लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। समाज के मुअज्जिज लोगों के माध्यम से बहु को समझाने के प्रयास भी किए। लेकिन वह कुछ सुनने को तैयार नहीं है। मारपीट व अन्य दूसरे झूठे आरोप लगाकर दबाव बनाकर पैसे की मांग की जा रही है। वह गरीब आदमी है। टेम्पो चलाकर परिवार का पालन करते हैं। बेटा भी मजदूरी करता है। मानसिक तनाव के चलते बेटा बीमार रहता है और मजदूरी भी नहीं कर पा रहा है। गरीबी के चलते वह मुकद्मे का खर्च उठाने में भी असमर्थ हैं। अनवर अब्बासी ने मांग करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार व उत्तराखण्ड सरकार को पूरे मामले की जांच कर उन्हें न्याय दिलाना चाहिए।

error: Content is protected !!