Maharajganj: गन्ना से भरी ट्राली व ट्राला अबतक ले चुके है कई लोगों की जान, गहरी नींद में सोया प्रशासन

            

Maharajganj: गन्ना से भरी ट्राली व ट्राला अबतक ले चुके है कई लोगों की जान, गहरी नींद में सोया प्रशासन

सिसवा बाजार-महराजगंज। सिसवा से कप्तानगंज मुख्य मार्ग पर शनिवार की तड़के गन्ना से भरी ट्राली से नवजवान सिपाही की मौत ने प्रशासन के ओवरलोड वाहनों की पोल खोल दिया है, सड़को पर ओवर लोड दौड़ रही गन्ना भरी ट्रालियां अब तक कई लोगों को मौत की नींद सुला चुकी है लेकिन प्रशासन है कि गहरी नींद से उठ ही नही रहा है, अगर प्रशासन जागा रहता तो ऐसी घटनाओं पर अंकुश लगता और लोगों की जान भी बच जाती।
    बताते चले चीनी मिलों के चालू होने के साथ ही सड़कों पर मौत दौड़ने लगती है, ओवर लोड़ गन्ना से भरी ट्रालियों के साथ ट्राला का भी सड़कों पर दौड़ शुरू हो जाता है, हर साल इन की वजह से किसी न किसी की मौत होती रहती है, सिसवा से कप्तानगंज मार्ग पर पिछले साल भी कोठीभार थानाक्षेत्र के हरपुर पकड़ी शिवमंदिर के पास इसी तरह सड़क पर ही गन्ना से भरी ट्राली खड़ी थी कि तड़के सुबह बाइक सवार सीधे ट्राली में जा घुसे जिससे उनकी दर्दनाक मौत हो गयी, अभी पिछले महीने ही सबया में चिरैयाकोट के पास दिन में ही मुख्य सड़क पर गन्ना से भरा ट्राला पलट गया, यहां भी संयोग रहा उस समय कोई बगल से गुजर नही रहा था नही तो यहां भी बड़ा हादसा हो सकता था।
       इस तरह की तमाम घटनाएं इस बात का संकेत दे रही है कि ओरवर लोड गन्ना से भरी ट्राली व ट्राला सड़कों पर मौत बन कर दौड़ रही है, ओरवर लोड गन्ना से भरी ट्राली व ट्राला के पीछे कोई लाइट व संकेत न होने से दिन में तो ट्राली व ट्राला दिखाई देता है लेकिन रात होने पर या कोहरे में कुछ भी नही दिखाई देेने के कारण वाहन सीधे इन ट्राली व ट्राला में जा घुसते है, ऐसे में ट्राली व ट्राला के पीछे 5 से 6 फिर गन्ने ही सबसे ज्यादा जानलेवा साबित होते है।

error: Content is protected !!