दूल्हा घोड़ी और बारात लेकर पहुंच गया थाने, जाने क्या था मामला

        

दूल्हा घोड़ी और बारात लेकर पहुंच गया थाने, जाने क्या था मामला

रतलाम। रतलाम में एक नाराज दूल्हा घोड़ी-बारात समेत थाने पहुंचा और दुल्हन को बुलाकर थाने में ही सात फेरे लेने पर अड़ गया। एएसपी को मामले में दखल देना पड़ा, कुछ अन्य अफसरों ने भी समझाइश दी। दूल्हे के लिए रात में ही डीजे बुलावाया गया तब वो बारात समेत रवाना हुआ।
        होमगार्ड कॉलोनी स्थित सुनील बदिया की शादी में मामेरा के कार्यक्रम के बाद प्रोसेशन निकलना तय हुआ था। मामेरा के बाद जैसे ही दूल्हा घोड़ी पर बैठा तो कुछ पुलिस वालों ने आकर डीजे बंद करवा दिया। रात 9.30 बजे ही डीजे यह कहकर बंद करवा दिया गया कि आसपास अधिकारियों के निवास हैं उन्हें दिक्कत होती है।
       बरातियों का कहना था कि हमें ही नियम बताकर डीजे बंद करवा दिया, जबकि एक दो दिन पहले ही रात के समय डीजे के साथ बारात निकली थी। पुलिसवालों ने यह डीजे वाले को भगा दिया तो दूल्हा सुनील भड़क गया। वह बारात और घोड़ी लेकर थाने पहुंच गया। यहां टीआई समेत दूसरे अफसरों ने भी दूल्हे को समझाया, लेकिन उसने एक नहीं सुनी। आक्रोशित बाराती जब दूल्हे सहित थाने पहुंचे तो भाजपा पूर्व जिला मंत्री आशीष सोनी पुलिस अधिकारियों से चर्चा की। मामले में एएसपी इंद्रजीत बाकलवार ने हस्तक्षेप किया। सीएसपी हेमंत चौहान भी थाने पहुंचे।
   सीएसपी का कहना था कि रात दस बजे डीजे बंद करवाने के निर्देश दिए थे। किसी खास जगह का बताकर कार्रवाई के लिए नहीं कहा गया था। रात 11रू30 बजे दोबारा डीजे बुलवा कर कम आवाज में बारात निकालने की इजाजत दी गई। इसके बाद रात 12 बजे दूल्हे के साथ बारात वापस होमर्गाड कॉलोनी पहुंची।

error: Content is protected !!