November 26, 2022

UP One India

Leading Hindi News Website

खड्डा विधानसभा: छितौनी रेल व बंद चीनी मिल क्यों नही बने इस चुनाव में मुद्दे, इस बार भी कोई झूठा वादा तो करदे

   

खड्डा विधानसभा: छितौनी रेल व बंद चीनी मिल क्यों नही बने इस चुनाव में मुद्दे, इस बार भी कोई झूठा वादा तो करदे

       खड्डा-कुशीनगर। खड्डा विधानसभा में पड़ने वाला छितौनी रेल व बंद चीनी मिल शायद इस चुनाव में मुद्दा बन कर सामने नही आया, अब तक किसी प्रत्याशी ने इस मुद्दे को जनता के सामने नही रख्ा जब कि इसी मुद्दे को लेकर कई नेता विधानसभा ही नही लोकसभा तक पहुंच गये, इस बार यह सवाल बन चुका है कि आखिर क्यों नही कोई इसे चुनावी मुद्दे से बाहर कर दिया।
    बताते चले खड्डा विधानसभा का छितौनी आज से तीस वर्ष पहले एक अच्छे व्यापारिक केन्द्र के रूप मे जाना जाता था, रेलवे स्टेशन पर हर रोज सवारी गाड़ियों की सीटी सुनने को मिलती थी, तो बगल में ही स्थित चीनी मिल ही आवाज भी लोगों के कानों में गूंजती रहती थी लेकिन न जाने किस की नजर छितौनी पर लग गयी, पहले रेलवे स्टेशन से सवारी गाड़ियों की सीटी बंद हो गयी तो दो साल बाद चीनी मिल से निकलने वाली आवाज, वह समय था 1996 जब रेलवे स्टेशन पर गाड़िया आनी बन्द हो गयी और 1998 में चीनी मिल बंद हो गयी, इस के बाद शुरू हुआ छितौनी के व्यापार पर प्रभाव पड़ना।
 

खड्डा विधानसभा: छितौनी रेल व बंद चीनी मिल क्यों नही बने इस चुनाव में मुद्दे, इस बार भी कोई झूठा वादा तो करदे

     छितौनी रेलवे स्टेशन और चीनी मिल बंद क्या हुआ नेताओं को विधानसभा व लोकसभा तक पहुंचने का अच्छा मुद्दा मिल गया और उसके बाद जो भी चुनाव को दौर आया चाहे विधानसभा का हो या फिर लोकसभा का हर चुनाव में इसे क्षेत्र का बड़ा मुद्दा बना कर जनता को आश्वासन दिया जाने लगा कि उन्हे चुनाव जीतने के बाद गाड़ियों का संचालन शुरू हो जाएगा व चीनी मिल चलेगी, नेताओं के आश्वासन पर क्षेत्र की जनता विश्वास कर वोट देती रही और नेता विधानसभा के साथ लोकसभा में पहुंचते रहे लेकिन किसी ने कुछ भी नही किया, हां इतना जरूर हुआ जब लालू प्रसाद यादव रेलमंत्री थे तो बिहार धनहा के नेता राजेश सिंह ने इस मुद्दे को उठाया और लालू प्रसाद यादव ने पनिहयवा से तमकुहीरोड तक नई रेलवे लाइन के निर्माण की स्वीकृति मिली, फिर छितौनी तक रेलवे लाइन बिछायी गयी, रेलवे स्टेशन का निर्माण हुआ, पनियहवा से छितौनी तक ट्रायल के लिए इंजन चली, छितौनी में रेल के इंजन पहुंचने और सीटी सुन पर लोगों के भीड़ ने खुशी में ड्राइवर को नोटों की माला पहनाया तो कुछ नगद मे इनाम भी दिया, सत्ता बदली तो सब कुछ बदल गया, फिर दुबारा इंजन छितौनी नही पहुंचा और न ही सीटी सुनने को मिली वह खुशी अब कब लोगों के चेहरे पर आयेगी लोग इंतजार कर रहे है।      

  

खड्डा विधानसभा: छितौनी रेल व बंद चीनी मिल क्यों नही बने इस चुनाव में मुद्दे, इस बार भी कोई झूठा वादा तो करदे

    हर चुनाव मे चुनावी मुद्दा बनने वाला रेलवे व बंद चीनी मिल इस चुनाव में मुद्दा नही बना, ऐसा क्यों हुआ यह क्षेत्र की जनता सवाल कर रही है, इतना ही नही यह भी कह रही है कि खड्डा विधानसभा से भाजपा के विधायक व लोकसभा में भी भाजपा के सांसद है, केन्द्र व प्रदेश में भाजपा की ही पूर्ण बहुमत की सरकार है फिर रेलवे पर गाड़ियों का संचालन नही शुरू हुआ, बंद चीनी मिल नही चली तो अब कब चलेगी?
         लोगों का कहना है कि जिस तरह हर चुनाव में मुद्दा बना कर झूठा वादा किया जाता रहा है, इस बार भी कोई झूठा वादा तो करदे।

error: Content is protected !!